आत्मनिर्भर बिहार- सीरीज-1 बढ़ेगा बिहार- मिलेगा रोजगार- होगा आत्मनिर्भर बिहार – डाॅ॰ प्रेम कुमार

(दिनांक 14.10.2020) बिहार भाजपा के वरिष्ठ नेता -सह-कृषि मंत्री डॉ० प्रेम कुमार ने कहा कि एक बार फिर से भारी बहुमत से बिहार में एन.डी.ए. की सरकार

मोदी सरकार के आत्मनिर्भर भारत अभियान की सफलता! 5 महीने में आधा हो गया चीन से व्यापार घाटा
जम्मू-कश्मीरः बिजली-पानी के बिल पर 50% की छूट, LG मनोज सिन्हा ने किया ऐलान
Bihar Election Live : तेजस्वी ने बेरोजगारों के लिए खोली वेबसाइट,

NDA चट्टान की तरह मजबूत, सभी घटक दल मिलकर एक साथ लड़ेंगे चुनावः कृषि मंत्री  - statement of dr prem kumar | Bihar News

(दिनांक 14.10.2020)
बिहार भाजपा के वरिष्ठ नेता -सह-कृषि मंत्री डॉ० प्रेम कुमार ने कहा कि एक बार फिर से भारी बहुमत से बिहार में एन.डी.ए. की सरकार बनने जा रही है। पिछले वर्षों में बिहार में जितने कार्य हुए है उसका और भी बेहतर परिणाम आने वाले दिनो में दिखेगा विषेषकर कृषि के क्षेत्र में जो कार्य हुए हैं उसके दूरगामी परिणाम देखने का मिलेगें। राज्य में बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। बिहार को प्रकृति ने कृषि के क्षेत्र में काफी वरदान दिया है। कृषि का क्षेत्र बड़े पैमाने पर रोजगार उपलब्ध करा सकता है। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गयी है। जल्द ही बिहार के शहद की ब्रांडिंग की जाएगी तथा राज्य से इसका निर्यात भी किया जाएगा। इससे बिहार में बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर उपलब्ध होगे तथा तेजी से विकास होगा।
माननीय मंत्री ने बताया कि बिहार में बड़े पैमाने पर शहद का उत्पादन होता है। राज्य में लगभग 5 लाख हनी बॉक्स के माध्यम से शहद का उत्पादन होता है। जिसमें 50 हजार से अधिक लोग जुड़े हुए हैं। यह क्षेत्र राज्य में लाखों लोगों को रोजगार उपलब्ध कराता है। बिहार के शहद की माँग देश ही नही बल्कि विदेशों भी है। बिहार के शहद की माँग अमेरिका, सऊदी अरब, कतर, मोरक्को आदि देशों में बहुत अधिक है। अभी हाल ही में देश के आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में शहद उत्पादन को भी प्रमुखता दी गई है। मधुमक्खीपालन को बढ़ावा देने के लिए 500 करोड़ का प्रावधान किया गया है। केन्द्र सरकार द्वारा नेशनल बीकीपिंग एंड हनी मिशन का भी गठन किया जा रहा है।
डॉ० प्रेम ने बताया कि राज्य में पहले से भी मधुमक्खीपालन को बढ़ावा देने हेतु योजना चलाई जा रही है। जिसमे 75 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है। अब केन्द्र सरकार की नई पहल से राज्य में मधुमक्खीपालन के व्यवसाय को गति मिलेगी तथा लाखों लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।
डॉ० कुमार ने कहा कि राज्य में मधुमक्खीपालन को उड़ान देने के उद्देश्य से राज्य के सभी मधुमक्खीपालकों का डेटाबेस तैयार किया जायेगा। डेटाबेस तैयार हो जाने के बाद उनके द्वारा उत्पादित शहद का ब्रांडिंग किया जाएगा तथा बेहतर बाजार की व्यवस्था की जाएगी ताकि उन्हें ज्यादा से ज्यादा मूल्य मिल सके। राज्य के सभी मधुमक्खीपालकों को एक पहचान पत्र भी निर्गत किया जायेगा ताकि उन्हें मधुमक्खी बक्सों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक परिवहन करने में कोई परेशानी नहीं हो।
नई सरकार के गठन होते ही इस क्षेत्र के लोगों को रोजगार मिलना शुरु हो जायेगा तथा बिहार का शहद पूरे भारत सहित विष्व के अन्य देषों में जाना प्रारंभ हो जायेगा।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0