काँग्रेस का दावा 50 सीट, 5 सीट भी जीत नहीं सकती है – डाॅ. प्रेम कुमार

पटना, 19 अक्टूबर। बिहार विधान सभा चुनाव में इस बार कांग्रेस 50 सीट जीतने का दावा कर रही है, जब कि इस बार कांग्रेस पांच सीट भी नहीं जीत सकती है।

तेजप्रताप के पैर छुये, राबड़ी देवी से मुंह मीठा कराकर नामांकन के लिए निकले तेजस्वी
राजनाथ सिंह ईरान पहुँचे, वजह चीनी तनाव या अमरीकी चुनाव?
Bihar Assembly Election: बिहार के दो दिवसीय दौरे पर चुनाव आयोग की टीम, इन 4 जिलों में होनी है बैठक

पटना, 19 अक्टूबर।

बिहार विधान सभा चुनाव में इस बार कांग्रेस 50 सीट जीतने का दावा कर रही है, जब कि इस बार कांग्रेस पांच सीट भी नहीं जीत सकती है। जनाधारहीन पार्टी कांग्रेस भी अब सपने देखने लगी है। कांग्रेस एक बार मात्र 5 सीटों पर सीमट कर रह गई थीं। आज पूरा देश काँग्रेस मुक्त भारत देखना चाहता है। आजादी के 70 सालों के शासनकाल में काँग्रेस ने देश के हर वर्ग को सिर्फ ठगने का काम किया है। देश से गरीबी हटाने के नाम पर गरीबो का हक मारकर गरीबों को ही मिटाने का काम किया है। पिछड़ों, अति पिछड़ों, शोषितों, दलितों को हर वार भ्रम में रखकर, हर वार उन्हें ठगने का काम ही हुआ है। काँग्रेस के शासनकाल में अतिपिछड़ों, दलितो, शोषितों का सबसे ज्यादा शोषण हुआ है। हर वार सिर्फ काँग्रेस ने सिर्फ वोट पाने के लिए भ्रमजाल फैलाकर वोट लिया उसके वाद उनको भूलाने का काम किया है। परन्तु अब देश की जनता इनके भ्रमजाल में फंसने वाली नहीं है। मुद्दा विहिन एवं आधारविहिन काँग्रेस तथा उसके महागठबंधन को बिहार की जनता पहले ही नकार चुकी है। महागठबंधन के सभी दलों की यही स्थिति आज पूरे बिहार के चुनावी मैदान में बनी हुई है। उक्त बातें सूबे के कृषि मंत्री सह भाजपा के वरिष्ठ नेता डाॅ. प्रेम कुमार ने आज यहां एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है।
डाॅ. कुमार ने कहा कि महागठबंधन के दलों में राजद, कांग्रेस के पास विकास का कोई मुद्दा नहीं होने के कारण झूठ का पुलिंदा चुनावी घोषणा-पत्र जारी कर जनता के बीच भ्रम पैदा करने का प्रयास किया है। कांग्रेस अपने शासनकाल में सूबे की जनता को झूठे वादे करती रहीं और अब राजद के साथ मिल कर काम कर रही है। राजद की छवि जंगलराज की बनी हुई है, जिस कारण जनता ने पहले ही महागठबंधन को नकार दिया है।
उन्होंने कहा कि सूबे की जनता सिर्फ और सिर्फ विकास चाहती है। बिहार में पहली बार एनडीए ही पिछले पंद्रह सालों से विकास करती आ रही है। फिर अगले पांच साल के लिए बिहार की जनता एनडीए को पूर्ण बहुमत से वापस लाने जा रही है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0