बिहार के बीज होम डिलिवरी मॉडल को केंद्र ने सराहा, अन्य राज्य भी अपनायेंगे

बिहार राज्य बीज निगम द्वारा खरीफ फसलों के बीज की होम डिलिवरी को भारत सरकार के गृह मंत्रालय द्वारा सराहना की गयी है. गृह मंत्रालय के आंतर

JD Digits absorbs JD.com’s cloud and AI business, clips dependence on fintech
कृषि बिल के खिलाफ किसानों का हल्लाबोल, पंजाब में आज से शुरू होगा रेल रोको अभियान
Coronavirus Drug: इंडिया में लॉन्च हुई कोरोना की सबसे सस्ती दवा, जानें कितनी होगी कीमत

Bihar Agriculture Minister Prem Kumar

बिहार राज्य बीज निगम द्वारा खरीफ फसलों के बीज की होम डिलिवरी को भारत सरकार के गृह मंत्रालय द्वारा सराहना की गयी है. गृह मंत्रालय के आंतरिक सुरक्षा संभाग ने इस आशय कृषि मंत्रालय को पत्र लिखा है. इसके साथ कृषि सहकारिता एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा द्वारा सभी राज्यों के कृषि विभाग को बिहार के इस मॉडल को अपनाने के निर्देश दिये हैं. भारत सरकार ने माना कि कोरोना महामारी के खिलाफ निवारक उपायों के रूप में तथा किसानों को कृषि से संबंधित सभी सुविधाएं और बीजों की होम डिलिवरी और उत्पादनों के अॉनलाइन खरीद के लिए इस प्रकार की प्रणाली विकसित किया जाये.

रविवार को कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने इसकी जानकारी दी. कृषि मंत्री ने बताया कि बिहार राज्य बीज निगम द्वारा खरीफ मौसम में पांच लाख 48 हजार छह सौ 19 किसानों को अनुदानित दर पर 43 हजार तीन सौ 24 क्विंटल बीज उपलब्ध कराया गया. बीते वर्ष रबी मौसम में बांका जिले के किसानों को गेहूं के बीज की होम डिलिवरी की सफलता को देखते हुए तथा कोरोना संक्रमण में किसानों को उनके द्वार पर ही सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से खरीफ मौसम में 39 हजार छह 98 इच्छुक किसानों को तीन हजार 34 क्विंटल बीज की होम डिलिवरी की गयी. यह पूरी प्रक्रिया पारदर्शी तरीके से किसानों के द्वारा किये गये ऑनलाइन आवेदन के अनुसार किया गया है.

अभी से शुरू कर दी गयी है रबी की तैयारी

कृषि मंत्री ने बताया कि बिहार देश का पहला ऐसा राज्य है. जहां कोरोना संक्रमण को देखते हुए अभी से ही रबी मौसम में बीज की व्यवस्था की तैयारी शुरू कर दी गयी है. पटना तथा मगध प्रमंडल के किसानों को बिहार राज्य बीज निगम के लिए बीज उत्पादन के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू कर दिया गया है. अभी तक रबी मौसम के अनुदानित दर पर बीज के लिए लगभग 45 हजार किसानों ने आवेदन किया है तथा पांच हजार से अधिक किसानों ने बीज के होम डिलिवरी की मांग की है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0