बिहार: गंगा, कोसी और पुनपुन को छोड़ सभी नदियां लाल निशान से नीचे

  बिहार में गंगा, पुनपुन और कोसी का छोड सभी नदियां लाल निशान के

कंगना केस में BMC को फटकार, जज ने कहा- पहले की लिस्ट पर क्यों नहीं तोड़े निर्माण?
हाईकोर्ट ने बिना टेंडर तीन एजेंसी को मतदाता सूची प्रकाशन का कांट्रेक्ट देने पर निर्वाचन विभाग को भेजा नोटिस, Patna
सुशांत सिंह केस : केंद्र सरकार ने भी सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की अर्जी, पक्षकार बनाने की मांग
bihar flood  floods in bihar  flood in north bihar  flood risk in bihar

बिहार में गंगा, पुनपुन और कोसी का छोड सभी नदियां लाल निशान के नीचे आ गई हैं। पुनपुन नदी का जलस्तर तेजी से नीचे आ रहा है और मंगलवार तक इसके अपनी सीमा में आ जाने की उम्मीद है। गंडक और बुढी गंडक नदियां भी सोमवार को लाल निशान के नीचे आ गई। कोसी बलतारा और कुरसेला में अब भी लाल निशान से ऊपर बह रही है।

राज्य में गंगा अब भी तीन स्थानों पर लाल निशान से ऊपर बह रही है। सोमवार को पटना में दो सेमी इसका जलस्तर और चढ़ा है और अब गांधी घाट पर लाल निशान से 12 सेमी ऊपर बहने लगी है। कहलगांव में भी इसका जलस्तर लाल निशान से 27 सेमी ऊपर चला गया है। हालांकि कहलगांव में यह नदी घटी है और अब लाल निशान से मात्र 13 सेमी ऊपर बह रही है।

पुनपुन नदी का जलस्तर श्रीपालपुर में सोमवार को 62 सेमी नीचे उतरा है। अब यह नदी  लाल निशान से मात्र 16 सेन्टी मीटर ऊपर बह रही है। इसके जलस्तर में कल तक और गिरावट की उम्मीद है और मंगलवार को यह लाल निशान से नीचे चली जा सकती है। सोन का डिस्चार्ज इंद्रपूरी बराज पर 75 हजार घनसेक रह गया है।

कोसी नदी का डिस्चार्ज सोमवार को बराह क्षेत्र में एक लाख से नीचे आ गया है। वहां डिस्चार्ज 77 हजार और बराज पर एक  लाख दो हजार घनसेक दर्ज किया गया। गंडक का डिस्चार्ज भी बराज पर 83 हजार घनसेक है। सोन नदी का डिस्चार्ज इंद्रपूरी बराज 75 हजार घनसेक है। लेकिन कोसी बलतारा में अब भी 1.01 मीटर लाल निशान से ऊपर है लेकिन कुरसेला में अब यह नदी मात्र 18 सेमी लाल निशान से ऊपर रह गई है। गंडक नदी डुमरियाघाट पर लाल निशान से नीचे आ गई है। इसके अलावा सारी नदियां अब अपनी सीमा में बहने लगी हैं

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0