भारत के खिलाफ पाकिस्तान की इस हरकत पर रूस ने जताई कड़ी आपत्ति

रूस ने एक बार फिर से भारत का साथ दिया है. रूस ने भारत की इस बात का समर्थन किया है कि शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में कश्मीर जैसे द्विपक्

दिल्ली में प्रदूषण से अभी से घुटने लगा दम, जानिए देश के बाकी टॉप 8 शहरों में क्या है AQI लेवल
LIVE: माइक पोम्पियो नई दिल्ली पहुंचे, भारत-US 2+2 मीटिंग पर चीन की निगाहें
चीन पर एक और चोट! एयर कंडीशनर के आयात पर सरकार ने लगाई रोक
SCO

रूस ने एक बार फिर से भारत का साथ दिया है. रूस ने भारत की इस बात का समर्थन किया है कि शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में कश्मीर जैसे द्विपक्षीय मुद्दे नहीं उठाए जाने चाहिए. रूस ने कहा है कि ऐसा करना संगठन के मूल सिद्धांतों के खिलाफ है.

SCO

मंगलवार को एससीओ की वर्चुअल समिट को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश दिया था. पीएम मोदी ने कहा था कि एससीओ की बैठक में गैर-जरूरी तरीके से द्विपक्षीय मुद्दों को उठाने की कोशिश करना संगठन के मूल सिद्धांतों का उल्लंघन है. पीएम मोदी का इशारा साफ तौर पर पाकिस्तान की ही तरफ था. पाकिस्तान ने कुछ दिन पहले एससीओ की बैठक में कश्मीर मुद्दा उठाने की कोशिश की थी.

SCO

रूस के डेप्युटी चीफ ऑफ मिशन रोमन बाबूश्किन ने मीडिया ब्रीफिंग में कहा, एससीओ के चार्टर में ये बात कही गई है कि बैठक के एजेंडे में द्विपक्षीय मुद्दों को ना लाया जाए. हमने सभी सदस्य देशों को भी स्पष्ट कर दिया है कि बहुपक्षीय सहयोग को बढ़ावा देने के लिए इन चीजों से बचना चाहिए.

SCO

दरअसल, रूस के डेप्युटी चीफ ऑफ मिशन से सवाल किया गया था कि क्या एससीओ के अध्यक्ष होने के नाते उसने पाकिस्तान के सामने इस मुद्दे को उठाया था. रोमन बाबूश्किन ने कहा, जहां तक भारत-पाकिस्तान विवाद की बात है, हमारा रुख स्पष्ट है. हमें उम्मीद है कि भविष्य में ऐसी घटनाएं नहीं होंगी.

SCO

सितंबर महीने में, एससीओ के सदस्य देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की वर्चुअल बैठक हुई थी जिसमें पाकिस्तानी प्रतिनिधि ने जानबूझकर कश्मीर का गलत नक्शा दिखाया था. पाकिस्तानी प्रतिनिधि के बैकग्राउंड में दिखे नक्शे में कश्मीर को पाकिस्तान के भू-भाग में शामिल किया गया था. इसे लेकर भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने नाराजगी जताते हुए बैठक बीच में ही छोड़ दी थी. भारत ने पाकिस्तान पर बैठक के नियमों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया था और पाकिस्तान के नक्शे को काल्पनिक करार दिया था. इस बैठक में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व राष्ट्रीय सुरक्षा पर प्रधानमंत्री के विशेष सहायक मोईद यूसुफ कर रहे थे.

SCO

रिपोर्ट्स के मुताबिक, रूस ने उस वक्त भी पाकिस्तान की इस हरकत का विरोध किया था. रूस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव निकोलाई पत्रुशेव ने कहा कि पाकिस्तान ने जो किया, रूस उसका समर्थन नहीं करता है और उम्मीद है कि पाकिस्तान के इस ‘उकसाने’ वाले कृत्य से एससीओ में भारत की भागीदारी पर प्रभाव नहीं पड़ेगा

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0