राहुल का हाथरस जाने का ऐलान, कहा- दुनिया की कोई भी ताकत मुझे नहीं रोक सकती

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटो) हाथरस गैंगरेप की घटना को लेकर कांग्रेस आक्रामक है. पार्टी के के पूर्व राष्ट्रीय अध्

हाथरस की निर्भयाः प्रियंका ने योगी का इस्तीफा मांगा, मायावती बोलीं- सुप्रीम कोर्ट संज्ञान ले
Live: नोएडा में आज फिर बवाल के आसार, राहुल के हाथरस कूच से पहले DND पर पुलिस तैयार
ड्रग्स कनेक्शन: रिया को मिली बेल, शोविक की जमानत अर्जी खारिज
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटो)कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटो)

हाथरस गैंगरेप की घटना को लेकर कांग्रेस आक्रामक है. पार्टी के के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी दो दिन पहले ही पीड़िता के परिजनों से मिलने हाथरस के लिए निकले थे. तब पुलिस ने दोनों को ग्रेटर नोएडा के परी चौक में रोक लिया था और वापस दिल्ली भेज दिया था.

राहुल गांधी आज फिर हाथरस के लिए रवाना होंगे. राहुल गांधी ने हाथरस जाने का ऐलान करते हुए कहा है कि दुनिया की कोई भी ताक़त मुझे हाथरस के इस दुखी परिवार से मिलकर उनका दर्द बांटने से नहीं रोक सकती. राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि इस प्यारी बच्ची और उसके परिवार के साथ यूपी सरकार और उसकी पुलिस की ओर से किया जा रहा व्यवहार मुझे स्वीकार नहीं. किसी भी हिंदुस्तानी को ये स्वीकार नहीं करना चाहिए.

बताया जाता है कि वे दोपहर के समय हाथरस के लिए निकलेंगे. उनके साथ प्रियंका गांधी और कांग्रेस सांसदों का एक दल भी जाएगा. राहुल गांधी के नेतृत्व में यह प्रतिनिधिमंडल पीड़िता के परिजनों से मुलाकात कर उनका दर्द साझा करेगा. कांग्रेस ने पीड़ित परिवार को न्याय से वंचित रखने का आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार पीड़िता के परिजनों को भारी पुलिस बल की तैनाती कर और मीडिया को भी रोक कर हताश करने की कोशिश कर रही है.

गौरतलब है कि हाथरस की घटना को लेकर यूपी सरकार के खिलाफ राहुल गांधी ने सोशल मीडिया पर मोर्चा खोल रखा है. गांव में भारी पुलिस बल की तैनाती से लेकर गांव की सीमा सील किए जाने, राहुल ने हर एक विषय पर ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी और सीएम योगी के नेतृत्व वाली यूपी सरकार को घेरा. वहीं, प्रियंका गांधी ने भी हाथरस की पीड़िता के लिए दिल्ली के वाल्मीकि मंदिर में आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत की थी.

बता दें कि राहुल अभी दो दिन पहले भी बहन प्रियंका के साथ हाथरस के लिए निकले थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें ग्रेटर नोएडा के परी चौक इलाके में ही रोक दिया और गिरफ्तारी के बाद वापस दिल्ली भेज दिया था. इस दौरान हाथरस जाने की जिद पर अड़े राहुल गांधी, उनके समर्थकों और पुलिस के बीच तीखी तकरार भी हुई थी. राहुल गांधी धक्का लगने से गिर भी गए थे. भाजपा ने इसे फैशन परेड बताते हुए तंज किए थे.

इस मामले में नोएडा पुलिस ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत 153 कांग्रेस नेताओं, 50 अज्ञात के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की थी. यह एफआईआर पैनडेमिक एक्ट और धारा 144 का उल्लंघन करने के लिए दर्ज की गई थी.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0