शेयर बाजार में हाहाकार, सेंसेक्स 550 अंक टूटा, निफ्टी 11 हजार के नीचे

शेयर बाजार में गिरावट का दौर जारी सप्ताह के चौथे कारोबारी दिन भारतीय शेयर बाजार में एक बार फिर बिकवाली का माहौल रहा. शुरुआती कारोबा

फेस्टिव सीजन में कौन बैंक दे रहा सबसे सस्ता कार लोन, ये है पूरी लिस्ट
चीन पर एक और चोट! एयर कंडीशनर के आयात पर सरकार ने लगाई रोक
मनमोहन सिंह ने संकट से निकलने के लिए मोदी सरकार को दिए तीन सुझाव
शेयर बाजार में गिरावट का दौर जारीशेयर बाजार में गिरावट का दौर जारी

सप्ताह के चौथे कारोबारी दिन भारतीय शेयर बाजार में एक बार फिर बिकवाली का माहौल रहा. शुरुआती कारोबार में सेंसेंक्स 550 अंक की गिरावट के साथ 37 हजार अंक के स्तर पर आ गया. निफ्टी की बात करें तो 150 अंक की गिरावट के साथ 11 हजार अंक के नीचे लुढ़क गया. शुरुआती कारोबार में बीएसई इंडेक्स के सभी शेयर लाल निशान पर रहे. सबसे ज्यादा गिरावट बैंकिंग और ऑटो सेक्टर के शेयर में रही. बीएसई इंडेक्स पर इंडसइंड बैंक के शेयर में 4 फीसदी की गिरावट रही. बजाज फाइनेंस, महिंद्रा, टाइटन और एक्सिस बैंक के शेयर में भी गिरावट दर्ज की गई.

क्या है गिरावट की वजह
दरअसल, ग्लोबली स्तर पर कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों और वैक्सीन को लेकर कोई ठोस उपाय नहीं होने की वजह से निवेशकों के बीच चिंता है. ऐसे में वैश्विक निवेशक सतर्क हैं. वहीं, घरेलू बाजार में मुनाफावसूली भी दिख रही है.

बुधवार को बाजार का हाल
वैश्विक बाजारों से मजबूती के संकेत मिलने के बावजूद देश के शेयर बाजारों में धारणा कमजोर रहने से बुधवार को लगातार पाचवें दिन गिरावट रही. कारोबार के अंत में सेंसेक्स 65.66 अंक यानी 0.17 प्रतिशत की गिरावट के साथ 37,668.42 अंक पर बंद हुआ. इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 21.80 अंक यानी 0.20 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,131.85 अंक पर बंद हुआ.

दूरसंचार शेयरों में रही गिरावट
दूरसंचार और वित्तीय कंपनियों के शेयरों में बिकवाली रही जबकि बाजार में अच्छी दखल रखने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज और एचडीएफसी बैंक में तेजी ने बाजार के नुकसान पर कुछ हद तक अंकुश लगाया. सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक नुकसान में भारती एयरटेल रही. इसका शेयर 7.89 प्रतिशत नीचे आ गया. वोडाफोन आइडिया का शेयर भी एक प्रतिशत से अधिक नीचे आया है. एक दिन पहले रिलायंस जियो के आक्रमक पोस्ट पेड प्लान की घोषणा के बाद कंपनी का शेयर नीचे आया है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0