हाथरस: पीड़िता के परिवार के हर शख्स को मिले दो सुरक्षाकर्मी, बाहर जाने से पहले देनी पड़ रही सूचना

हाथरस में है चप्पे चप्पे पर सुरक्षाकर्मी  उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए गैंगरेप कांड की जांच जारी है. इस जांच से इतर परिवार को अब सुरक्षा म

हाथरस गैंगरेप: पीड़िता का जबरन अंतिम संस्कार किए जाने पर भड़के जावेद अख्तर, वो सोचते हैं बच जाएंगे
हाथरस कांड के आरोपियों की जेल से चिट्ठी- हम बेकसूर, ये ऑनर किलिंग का मामला
बिहारः बक्सर में बैंक जा रही महिला के साथ गैंगरेप, बेटे संग बांधकर नदी में फेंका, बच्चे की मौत
हाथरस में है चप्पे चप्पे पर सुरक्षाकर्मी (PTI)हाथरस में है चप्पे चप्पे पर सुरक्षाकर्मी 

उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए गैंगरेप कांड की जांच जारी है. इस जांच से इतर परिवार को अब सुरक्षा मुहैया करा दी गई है. राज्य सरकार की ओर से पीड़िता के परिवार के हर सदस्य के लिए दो सुरक्षाकर्मी मुहैया कराए गए हैं. हालांकि, अब कहीं पर भी जाने से पहले पीड़िता के परिवार को सुरक्षाकर्मियों को जानकारी देनी होगी, तभी व्यवस्था हो पाएगी.

आपको बता दें कि हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद लगातार राजनीतिक घमासान मचा हुआ है. इस बीच पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर सवाल खड़े हो रहे थे. खुद पीड़िता के पिता ने बयान दिया था कि उन्हें गांव में डर लग रहा है या तो उन्हें सुरक्षा दी जाए वरना गांव से कहीं अलग ले जाया जाए.

गौरतलब है कि हाथरस के भूलगढ़ी गांव में जहां पीड़िता का परिवार रहता है, वहां आरोपियों के समर्थन में भी कई सभाएं और रैली हो चुकी हैं. आरोपियों के समर्थन में लोगों ने प्रदर्शन किया और पीड़िता के परिवार पर जबरन उनकी जाति के लोगों को फंसाने का आरोप लगाया. ऐसे में सुरक्षा को लेकर मांग उठ रही थी.

मंगलवार को उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देते हुए ये सूचित किया था कि परिवार को कोई खतरा नहीं है. और सरकार की ओर से सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी.

शिवसेना की सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने परिवार को सुरक्षा दिलवाने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को चिट्ठी लिखी थी, इसके अलावा भीम आर्मी के चंद्रशेखर ने भी राज्य सरकार की ओर से सुरक्षा देने की मांग की थी.

बता दें कि बीते कई दिनों से गांव में पुलिस का पहरा है लेकिन पीड़िता के घर पर राजनीतिक दलों के साथ-साथ कई सामाजिक संगठनों और अन्य लोगों का आना-जाना लगा हुआ है. साथ ही अभी एसआईटी की जांच भी चल रही है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0