पटना, राज्य ब्यूरो। हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा के अध्‍यक्ष जीतन राम मांझी गुरुवार को औपचारिक रूप से राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का हिस्‍सा हो जाएंगे। मांझी ने एक दिन पहले जब इसका ऐलान किया, उस वक्‍त एनडीए का कोई नेता मौजूद नहीं था। इस अवसर पर उन्‍होंने राष्‍ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव तथा उनके बेटे तेजस्‍वी यादव पर जमकर भड़ास निकाली। कहा कि वे लालू के चक्‍कर में महागठबंधन में शामिल हो गए थे। अपने बेटे से तुलना करते हुए उन्‍होंने तेजस्‍वी को आठवीं पास व रहमोकरम वाला अयोग्‍य नेता करार दिया। साथ ही मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की जमकर तारीफ की।

विदित हो कि जीतन राम मांझी ने 20 अगस्त को महागठबंधन से अलग होने का फैसला किया था। उसी समय से उनके एनडीए में शामिल होने को तय माना जा रहा था।

एनडीए में बिना शर्त शामिल, सीटों को ले जेडीयू से करेंगे बात

लालू यादव वे चक्कर में महागठबंधन में हो गए थे शामिल

लालू प्रसाद यादव पर हमलावर होते हुए मांझी ने कहा कि वे उनके चक्कर में महागठबंधन में शामिल हो गए थे। महागठबंधन में आकर पता चला कि आरजेडी भ्रष्टाचार और घोटालों में डूबी हुई पार्टी है। मांझी ने महागठबंधन में आरजेडी की मनमानी की चर्चा करते हुए कहा कि वे महीनों से महागठबंधन में कोआर्डिनेशन कमेटी बनाने की बात कह रहे थे, लेकिन यह बात नहीं सुनी गई। इस कारण उन्‍हें यह फैसला लेना पड़ा। मांझी ने कहा कि उन्‍होंने आरजेडी के सात विधायकों को जिताया, लेकिन लालू ने उन्‍हें क्‍या दिया?

तेजस्‍वी को बताया आठवीं पास रहमोकरम वाला नेता

अपने बेटे को विधान पार्षद बनाने को लेकर आरजेडी के सवाल पर जीतन राम मांझी ने सीधे तेजस्‍वी यादव को निशाने पर लिया। कहा कि उनका बेटा कोई आठवीं पास नहीं है, उसने एमए-पीएचडी किया है। उसे रहम पर नहीं, योग्‍यता के आधार पर एमएलसी बनाया गया था।

खुद सक्रिय राजनीति से दूर जाने की कही बात

जहतन राम मांझी ने एक और बड़ी बात कही है। उन्‍होंने कहा कि 75 वर्ष की उम्र के बाद सक्रिय राजनीति में नहीं रहना चाहिए और चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। इस कारण वे विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने की सोच रहे हैं। हालांकि, इसपर अंतिम फैसला जिससे गठबंधन किया है (नीतीश कमार) उनकी राय जानने के बाद ही लेंगे।