Dussehra 2020: कब मनाया जाएगा दशहरा? अभी जान लें शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

कब मनाया जाएगा दशहरा? अभी जान लें शुभ मुहूर्त और पूजन विधि दशहरा (Dussehra 2020) बुराई पर अच्छाई की जीत का सबसे बड़ा प्रतीक माना जाता

IPL से ठीक पहले RCB फ्रेंचाइजी में बड़ा बदलाव, टीम का पहला मैच 21 सितंबर को
IPL 2020: RCB के खिलाफ आज CSK कर सकती है बड़ा बदलाव, कुछ ऐसी हो सकती है दोनों की प्लेइंग XI.
IPL: पराग का पराक्रमः राजस्थान को छक्के से जीत दिला मैदान पर करने लगे ‘बिहु डांस’- VIDEO
कब मनाया जाएगा दशहरा? अभी जान लें शुभ मुहूर्त और पूजन विधिकब मनाया जाएगा दशहरा? अभी जान लें शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

दशहरा (Dussehra 2020) बुराई पर अच्छाई की जीत का सबसे बड़ा प्रतीक माना जाता है. हिंदू पचांग के अनुसार, दशहरा दीवाली से ठीक 20 दिन पहले आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी (Vijay dashmi 2020) तिथि को मनाया जाता है. दशहरा हिंदुओं के प्रमुख त्याहारों में से एक है. प्रभु श्रीराम के हाथों रावण का वध होने के बाद से ही इसे मनाने की परंपरा चली आ रही है. वहीं इस दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का संहार भी किया था, इसलिए भी इसे विजय दशमी के रूप में मनाया जाता है.

कब है विजय दशमी?
विजय दशमी का पर्व इस साल रविवार, 25 अक्टूबर को मनाया जाएगा. पितृपक्ष के बाद अधिकमास लगने की वजह से नवरात्र, दशहरा और सभी एक महीने देर से आएंगे. 17 अक्टूबर से नवरात्रि का शुभारंभ होगा और 24 अक्टूबर को रामनवी के अगले ही दिन पूरे देश में दशहरे का पर्व मनाया जाएगा. इसके ठीक 20 दिन बाद यानी शनिवार, 14 नवंबर को दीवाली (Diwali 2020) का पर्व मनाया जाएगा.

शुभ मुहूर्त
विजय दशमी (Vijay dashmi 2020) 25 अक्टूबर को 7 बजकर 41 मिनट से 26 अक्टूबर को 8 बजकर 59 मिनट तक रहेगी. इस बीच 01 बजकर 55 मिनट से 02 बजकर 40 तक विजय मुहूर्त रहेगा. जबकि 01 बजकर 11 मिनट से 03 बजकर 24 मिनट तक अपराह्न पूजा का समय रहेगा.

विजय दशमी पर पूजा के फायदे
इस दिन महिषासुर मर्दिनी मां दुर्गा और भगवान राम की पूजा करनी चाहिए. इससे सम्पूर्ण बाधाओं का नाश होगा और जीवन में विजय श्री प्राप्त होगी. इस दिन अस्त्र-शस्त्र की पूजा करना बड़ा फायदेमंद होता है. नवग्रहों को नियंत्रित करने के लिए भी दशहरे की पूजा अद्भुत होती है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0