Indian Railway: रेलवे ने रिजर्वेशन और टिकट बुकिंग नियमों में किए बड़े बदलाव, अब यात्रियों को मिलेगा ये लाभ

Indian Railways, Railway Reservation Rules इंडियन रेलवे (Indian Railways) ने ट्रेन टिकट बुकिंग और रिजर्वेशन चार्ट को लेकर बड़े बदला

हॉलिडे पर जाने की सोच रहे हैं, तो पढ़ें कोरोना को लेकर सभी राज्यों के नियम
पांच महीनों बाद फिर से भक्तों को होंगे माता के दर्शन, 16 अगस्त से शुरू होगी वैष्णो देवी यात्रा
The unconventional guide to cultural solutions
Indian Railways, Railway Reservation RulesIndian Railways, Railway Reservation Rules

इंडियन रेलवे (Indian Railways) ने ट्रेन टिकट बुकिंग और रिजर्वेशन चार्ट को लेकर बड़े बदलाव किए हैं. ये बदलाव आज यानी 10 अक्टूबर से लागू हैं. इन बदलावों के साथ ही अब यात्रियों को अचानक टिकट बुकिंग के लिए ज्यादा समय मिलेगा, यानी ट्रेन के स्टेशन से निकलने से 30 मिनट पहले तक यात्री टिकट बुक कर सकेंगे.

बता दें कि कोरोना काल के दौरान रेलवे ने नियमित ट्रेन सेवा को रद्द कर दिया था. लेकिन कुछ दिनों बाद कोविड स्पेशल ट्रेनों की शुरुआत हुई, साथ ही रेलवे ने टिकट बुकिंग (Ticket Booking) और रिजर्वेशन चार्ट (Reservation Rule)  को लेकर भी नियमों में बदलाव किया था.

कोविड काल में चल रही स्पेशल पैसेंजर ट्रेनों के लिए पहले की तरह ही टिकट रिजर्वेशन चार्ट करीब 4 घंटे पहले तैयार किया जाता था, लेकिन दूसरे रिजर्वेशन चार्ट की टाइमिंग में बदलाव किया गया था. इस दौरान ट्रेन के प्रस्थान से 30 मिनट पहले से तैयार होने वाले दूसरे रिजर्वेशन चार्ट के समय को बढ़ाकर दो घंटा कर दिया गया था. यानी कोरोना काल में चलने वाली ट्रेनों के लिए ट्रेनों के प्रस्थान समय से दो घंटे पहले ही चार्ट तैयार कर लिया जाता था.

इस प्रक्रिया में बदलाव किया गया है और रिजर्वेशन चार्ट के लिए पुराना टाइम-टेबल लागू कर दिया गया है. यानी अब रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन के स्टेशन से निकलने के 30 मिनट पहले बनना शुरू होगा और प्रस्थान समय से 5 मिनट पहले तक तैयार किया जा सकेगा.

इस बदलाव के साथ यात्रियों को टिकट बुकिंग के लिए भी ज्यादा समय मिलेगा. यानी अब यात्री ट्रेन के निकलने से 30 मिनट पहले तक टिकट बुकिंग कर सकेंगे. कोरोना काल में ट्रेनों के खुलने से 2 घंटे पहले चार्ट बन जाता था और उसके बाद टिकटों की बुकिंग नहीं हो पाती थी. लेकिन अब प्रस्थान समय से 30 मिनट पहले तक टिकटों की बुकिंग हो सकेगी.

इस बदलाव का फायदा उन यात्रियों को होगा जो अचानक कहीं जाने के लिए निकलते हैं. ऐसे यात्रियों के लिए ट्रेन के खुलने से 30 मिनट पहले तक ऑनलाइन और पीआरएस टिकट काउंटरों से टिकट बुकिंग की सुविधा होगी.

एक बयान में रेलवे ने कहा कि कोविड-19 से पूर्व के दिशानिर्देशों के तहत पहला रिजर्वेशन चार्ट ट्रेनों के निर्धारित प्रस्थान समय से कम से कम 4 घंटे पहले तैयार किया जाता था ताकि ट्रेनों में बची सीटों को दूसरे रिजर्वेशन चार्ट के तैयार होने तक पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर पीआरएस काउंटरों और इंटरनेट के माध्यम से बुक की जा सकें.

रेलवे ने कहा, ‘रेल यात्रियों के लिए सुविधा सुनिश्चित करने के वास्ते जोनल रेलवे द्वारा किए गए अनुरोध के हिसाब से इस मामले पर विचार किया गया. इसके बाद तय किया गया कि दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेनों के निर्धारित प्रस्थान समय से कम से कम 30 घंटा पहले तैयार कर लिया जाए.’

रेलवे के मुताबिक, ‘अब ऑनलाइन और पीआरएस टिकट काउंटरों पर टिकट बुकिंग सुविधा दूसरे रिजर्वेशन चार्ट के तैयार होने से पहले तक उपलब्ध होगी. इसके लिए CRIS सॉफ्टवेयर में जरूरी बदलाव किया जाएगा ताकि 10 अक्टूबर से इस व्यवस्था को बहाल किया जा सके.’ बता दें कि इंडियन रेलवे ने 25 मार्च से लॉकडाउन की वजह से सभी यात्री ट्रेन सेवाओं को रद्द कर दिया था. हालांकि, अब धीरे-धीरे ट्रेनों की संख्या को भी बढ़ाया जा रहा है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0