IPL 2020: पूर्व बल्लेबाज बद्रीनाथ का खुलासा, धोनी नहीं थे चेन्नई के कप्तान के रूप में पहली पसंद बल्कि…

IPL 2020: सुब्रहमण्यम बद्रीनाथ चेन्नई के लिए भी खेल चुके हैं  चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) और टीम इंडिया (Team India)

IPL 2020: रैना-मलिंगा-भज्जी के ना होने से चेन्नई-मुंबई को कितना नुकसान, कौन करेगा भरपाई?
सुरेश रैना के परिवार पर हुए हमले पर कपिल शर्मा ने जताया दुख, पंजाब पुलिस से कही ये बात:
IPL 2020 : बिना दर्शकों के मैच के दौरान शोर से परेशान हुए लोग, फनी मीम्स की लगी झड़ी

IPL 2020: पूर्व बल्लेबाज बद्रीनाथ का खुलासा, धोनी नहीं थे चेन्नई के कप्तान के रूप में पहली पसंद बल्कि...

IPL 2020: सुब्रहमण्यम बद्रीनाथ चेन्नई के लिए भी खेल चुके हैं 

चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) और टीम इंडिया (Team India) के पूर्व बल्लेबाज एस. बद्रीनाथ ने टूर्नामेंट के पहले संस्करण को लेकर खुलासा किया है. आईपीएल (2020) का पहले संस्करण साल 2008 में खेला गया था. तब सीएसके (CSK) मैनेजमेंट ने एमएस धोनी (MS Dhoni) को कप्तान चुना था, जो अभी तक इस पद पर बने हुए हैं, लेकिन आपको बता दें कि तब एमएस धोनी (MS Dhoni) कप्तानी को लेकर मैनेजमेंट की पहली पसंद नहीं थे.

अपने यू-ट्यूब चैनल पर बद्रीनाथ ने कहा कि सीएसके ने कप्तान के रूप में वीरेंद्र सहवाग को चुना था, लेकिन वीरू ने दिल्ली के साथ जुड़ना पसंद किया. सहवाग घरेलू क्रिकेट यानि रणजी ट्रॉफी मैचों में भी दिल्ली का प्रतिनिधित्व कर चुके थे और वह दिल्ली में ही बने रहना चाहते थे. उन्होंने कहा कि आईपीएल साल 2008 में शुरू हुआ. अगर आप देखेंगे कि कप्तानी को लेकर सीएसके की पहल पसंद कौन था, तो यह वीरेंद्र सहवाग थे. मैनेजमेंट सहवाग को लेकर निर्णय ले चुका था, लेकिन सहवाग ने खुद कहा कि उनकी परवरिश में हुई है. ऐसे में इस टीम के साथ उनका जुड़ाव बेहतर रहेगा.

बद्रीनाथ बोले कि वीरू के इस फैसले के बाद सीएसके मैनेजमेंट ने दूसरे विकल्प की ओर देखना शुरू किया. उसे लगा कि अब दूसरा विकल्प देखना ही बेहतर है. इसके बाद नीलामी का दिन आया और मैनेजमेंट ने देखा कि बेहतर खिलाड़ी कौन है. नीलामी से पहले ही भारत ने 2007 में टी20 वर्ल्ड कप जीता था. इस पहलू ने धोनी को कप्तान चुनने और अनुबंधित करने में मदद की.

उन्होंने कहा कि साल 2008 में एमएस सबसे मंहगे खिलाड़ी थे. चेन्नई ने उन्हें 6 करोड़ रुपये में खरीदा था. ऐसे में यह वह स्टोरी है, जो आप में से ज्यादातर लोग नही जानते होंगे, लेकिन सच यह है कि एमएस से पहले सहाग को कप्तानी के लिए चुना गया था. बद्री ने कहा कि मेरे हिसाब से एमएस का चेन्नई आना एक पत्थर से तीन शिकार करने जैसा रहा. पहला यह कि वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ कप्तान हैं. ऐसी कोई ट्रॉफी नहीं है, जो एमएस के पास न  हो. दूसरी यह कि एमएस सर्वश्रेष्ठ फिनिशर हैं. फिनिशर दुनिया भर की बेस्ट टीमों के लिए महत्वपूर्ण हिस्सा है. अगर आप अच्छी टीमों की ओर देखोगे, तो देखोगे कि मुंबई के पास केरोन पोलार्ड हैं, केकेआर के पास आंद्र रसेल हैं. सीएसके के पास एमएस है. तीसरा यह कि एमएस बहुत ही शानदार विकेटकीपर हैं. मेरे द्वारा देखे गए दुनिया के सबसे सुरक्षित विकेटकीपरों में से एक. 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 1