LIVE: चुनावी नतीजों के बीच बाजार में बंपर बढ़त, नए रिकॉर्ड पर पहुंचा सेंसेक्स

सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़तबिहार विधानसभा और उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात जैसे राज्यों के उपचुनाव की मतगणना जारी है. इस बीच, भा

शेयर बाजार में हाहाकार, सेंसेक्स 550 अंक टूटा, निफ्टी 11 हजार के नीचे
18 myths uncovered about financial advisors
Learn How to Launch a Podcast From Experts with Millions of Downloads
सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त

बिहार विधानसभा और उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात जैसे राज्यों के उपचुनाव की मतगणना जारी है. इस बीच, भारतीय शेयर बाजार की रिकॉर्ड बढ़त के साथ शुरुआत हुई है. शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 150 अंक की बढ़त के साथ ऑल टाइम हाई 42,800 अंक के करीब पहुंच गया है. वहीं, निफ्टी की बात करें तो ये 12,500 अंक के स्तर पर है. शुरुआती कारोबार में बैंकिंग सेक्टर के शेयर मजबूत हुए हैं. वहीं, आईटी सेक्टर के शेयर में गिरावट दर्ज की गई है.

सोमवार को बाजार का हाल?
वैश्विक स्तर पर मजबूत रुख के बीच बीएसई सेंसेक्स सोमवार को 704 अंक उछलकर अब तक के नये रिकार्ड स्तर पर बंद हुआ. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव में जो बाइडेन की जीत के बाद वैश्विक बाजारों में तेजी आई है, जिसका घरेलू बाजारों पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ा. तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स कारोबार के दौरान एक समय 42,645.33 अंक के अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया था.  अंत में यह 704.37 अंक यानी 1.68 प्रतिशत की बढ़त के साथ 42,597.43 अंक की रिकार्ड ऊंचाई पर बंद हुआ.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी कारोबार के दौरान 12,474.05 के उच्चतम अंक पर पहुंच गया था. अंत में यह 197.50 अंक यानी 1.61 प्रतिशत की तेजी के साथ 12,461.05 अंक के रिकार्ड स्तर पर बंद हुआ.  शेयर बाजारों में सोमवार को आयी जबर्दस्त तेजी से निवेशकों की संपत्ति 2 लाख करोड़ रुपये से अधिक बढ़ी. बीएसई इंडेक्स में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 2,06,558.75 करोड़ रुपये बढ़कर 1,65,67,257.92 करोड़ रुपये पहुंच गया.

क्या है बढ़त की वजह 
एशिया के अन्य बाजारों में सकारात्मक रुख के बीच भारतीय बाजारों में भी तेजी है. अमेरिकी में राष्ट्रपति चुनाव के परिणाम पर निवेशकों की प्रतिक्रिया स्वरूप बाजार में तेजी आई है. ज्यादातर प्रतिभागी यह उम्मीद कर रहे हैं कि बाइडेन सरकार भारतीय कंपनियों खासकर आईटी और घरेलू वित्तीय बाजारों के लिये अच्छी खबर लाएगी.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0