Notice: Undefined offset: 1 in /home/p5wtq9lg1xy9/public_html/24inside.com/wp-content/plugins/sneeit-framework/includes/utilities/utilities-breadcrumbs.php on line 193

Notice: Trying to get property of non-object in /home/p5wtq9lg1xy9/public_html/24inside.com/wp-content/plugins/sneeit-framework/includes/utilities/utilities-breadcrumbs.php on line 193

दूध में तुलसी के पत्ते उबालकर पीने से दूर होंगे ये बड़े रोग, बस जान लें कब और कैसे पिएं

तुलसी की पत्तियां कई गुणों से भरपूर होती हैं. तुलसी को किसी भी तरह से उपयोग करें वो फायदा ही देती है. वैसे तो तुलसी को किस तरह से बीमारी में इस्तेमा

मोटे लोगों पर काम नहीं करेगी कोरोना की वैक्सीन? एक्सपर्ट ने जताई ये आशंका
किन 30 करोड़ लोगों को पहले मिलेगी वैक्सीन? लिस्ट तैयार, फोन पर ही मिल जाएगी सूचना
What everyone is saying about health care providers

तुलसी की पत्तियां कई गुणों से भरपूर होती हैं. तुलसी को किसी भी तरह से उपयोग करें वो फायदा ही देती है. वैसे तो तुलसी को किस तरह से बीमारी में इस्तेमाल करना है ये सभी जानते हैं.

दूध में तुलसी के पत्ते उबालकर पीने से दूर होंगे ये बड़े रोग, बस जान लें कब और कैसे पिएं

नई दिल्ली: तुलसी की पत्तियां कई गुणों से भरपूर होती हैं. तुलसी को किसी भी तरह से उपयोग करें वो फायदा ही देती है. वैसे तो तुलसी को किस तरह से बीमारी में इस्तेमाल करना है ये सभी जानते हैं. पर क्या आप जानते हैं, तुलसी की पत्तियों को रोजाना दूध में उबालकर पीने से इन 5 बड़े रोगों से आसानी से छुटकारा मिल सकता है.  आइए आपको बताते हैं.

डिप्रेशन
ऑफिस की टेंशन या फिर काम के बोझ की वजह से अगर आप अक्सर तनाव या डिप्रेशन से घिरे रहते हैं तो दूध में तुलसी की पत्तियों को उबाल पीएं. इसे पीने से मानसिक तनाव और चिंताएं दूर होती हैं.

दमा रोग
यदि आप सांस संबंधी समस्या दमा जैसे किसी रोग से परेशान हैं तो दूध के साथ तुलसी की पत्तियों को उबालकर पीएं. ऐसा करना दमा रोगियों को फायदा होगा.

तुलसी के पत्तों में एंटीऑक्सीडेंट्स गुण मौजूद होने से ये शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करते हैं. इसके अलावा तुलसी के पत्तों में एंटीबैक्टीरियल एवं एंटीवायरल गुण भी मौजूद होते हैं, जो सर्दी, खांसी व जुकाम से व्यक्ति को दूर रखते हैं.

माइग्रेन
दूध में तुलसी के पत्ते उबालकर पीने से सिर दर्द या माइग्रेन जैसी समस्याओं से राहत मिलती है. नियमित रूप से तुलसी दूध का सेवन करने से इस समस्या को जड़ से समाप्त किया जा सकता है.

पथरी
अगर किसी व्यक्ति को पथरी की समस्या है तो उसे नियमित रूप से खाली पेट तुलसी दूध पीना चाहिए. ऐसा करने से किडनी के पथरी की समस्या और दर्द दूर होता है.

तुलसी दूध बनाने के लिए सबसे पहले डेढ़ गिलास दूध में 8 से 10 तुलसी की पत्तियां डालकर उबलने दें. जब दूध एक गिलास रह जाए तब गैस बंद कर दें. दूध हल्का गुनगुना होने पर इसे पीएं. इस दूध के नियमित सेवन से ही इन बीमारियों से निजात पाया जा सकता है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0