पाकिस्तान में महंगाई की मार, गेहूं के दाम सातवें आसमान पर, रूस से करना पड़ रहा इम्पोर्ट

महंगाई के मुद्दे पर निशाने पर है इमरान सरकारपड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में महंगाई की मार बढ़ती जा रही है. हालात ये हैं कि अब गेहूं का दा

चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर में बलूचिस्तान कितना बड़ा रोड़ा
भारत बंद पर किसानों ने जारी किया मर्यादा सूत्र, राजनीतिक दलों के शामिल होने से केंद्र अलर्ट, जारी की एडवायजरी- 10 बातें
RIL बना दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा ब्रांड, अब Apple के ताज पर भी खतरा
महंगाई के मुद्दे पर निशाने पर है इमरान सरकारमहंगाई के मुद्दे पर निशाने पर है इमरान सरकार

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में महंगाई की मार बढ़ती जा रही है. हालात ये हैं कि अब गेहूं का दाम आसमान छू रहा है और पिछले सारे रिकॉर्ड को तोड़ दिया है. पाकिस्तान में अभी गेहूं का दाम 60 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया है. जो अबतक का सबसे ऊंचा रेट है. पाकिस्तान की सरकार तमाम कोशिशों के बाद भी दाम को 2400 रुपये प्रति 40 किलो से नीचे नहीं रख पाई है.

पाकिस्तानी मीडिया में छपी खबर के मुताबिक, पिछले साल दिसंबर में भी कुछ ऐसे ही हालात बने थे जब गेहूं के लिए काफी मुश्किलें पैदा हो रही थीं. अब फिर इस साल अक्टूबर में यही हाल हो गया है, रिपोर्ट में दावा किया गया है कि दिसंबर तक हालात और बिगड़ सकते हैं.

दाम में बढ़ोतरी के बाद पाकिस्तान में अनाज एसोसिएशन ने सरकार से अपील की है कि उन्हें फंड दिया जाए, ताकि वक्त पर फसल पैदा हो सके और दाम में कटौती आ पाए. हालांकि, ना तो केंद्र सरकार और ना ही किसी प्रांत की सरकार की ओर से फंड देने का भरोसा दिया गया है.

अब पाकिस्तान की ओर से रूस से गेहूं की खेप मंगाई जा रही है. रूस से आ रहा अनाज इस महीने करीब 2 लाख मीट्रिक टन तक पहुंच जाएगा. पाकिस्तान में अब प्रधानमंत्री इमरान खान को प्रस्ताव भेजा जाएगा कि रोटी की तरह ही गेहूं, चीनी और चिकन के दाम को फिक्स किया जाए.

दूसरी ओर पाकिस्तान में बीज को लेकर भी मारा मारी मची है. किसानों और बीज कॉर्पोरेशन ने सरकार से 24 घंटे के अंदर दाम तय करने की मांग की है. हालांकि, अगर पिछले साल से तुलना करें तो अभी पाकिस्तान में महंगाई की दर कम है लेकिन विशेषज्ञों ने इसके बढ़ने की आशंका जताई है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0