बेरूत विस्फोट: 100 लोगों की मौत, 4 हजार से ज्यादा घायल; अब भी उठ रहा धुआं

बंदरगाह से अब भी धुआं निकल रहा है. क्षतिग्रस्त वाहनों और इमारतों का मलबा अब भी सड़कों पर फैला है. अस्पतालों के बाहर लोग अपने परिवार वालों के बारे मे

मोदी सरकार के आत्मनिर्भर भारत अभियान की सफलता! 5 महीने में आधा हो गया चीन से व्यापार घाटा
Coronavirus Vaccine: रूस ने तैयार की कोरोना वैक्सीन, राष्ट्रपति पुतिन की बेटी को दिया गया टीका
चीन के साथ आज बॉर्डर पर सातवें दौर की बातचीत, दोनों ओर से विदेश मंत्रालय के अधिकारी शामिल होंगे

बंदरगाह से अब भी धुआं निकल रहा है. क्षतिग्रस्त वाहनों और इमारतों का मलबा अब भी सड़कों पर फैला है. अस्पतालों के बाहर लोग अपने परिवार वालों के बारे में जानने के लिए जमा हो गए हैं. वहीं कई लोगों ने ऑनलाइन भी मदद की गुहार लगाई है.

बेरूत विस्फोट: 100 लोगों की मौत, 4 हजार से ज्यादा घायल; अब भी उठ रहा धुआं
(फाइल फोटो)

बेरूत: लेबनान की राजधानी बेरूत (Beirut) में मंगलवार को हुए एक भीषण विस्फोट में कम से कम 100 लोगों की मौत हो गई. इस विस्फोट में शहर के बंदरगाह का एक बड़ा हिस्सा और कई इमारतें क्षतिग्रस्त हो गईं. लेबनान रेड क्रॉस के अधिकारी जॉर्ज केथानेह ने बताया कि इस विस्फोट में कम से कम 100 लोगों की जान चली गई और इस संख्या के अभी और बढ़ने की आशंका है.

बंदरगाह से अब भी धुआं निकल रहा है. क्षतिग्रस्त वाहनों और इमारतों का मलबा अब भी सड़कों पर फैला है. अस्पतालों के बाहर लोग अपने परिवार वालों के बारे में जानने के लिए जमा हो गए हैं. वहीं कई लोगों ने ऑनलाइन भी मदद की गुहार लगाई है. इससे पहले, अधिकारियों ने मंगलवार को बताया था कि 70 से अधिक लोगों की जान गई है और 3,000 से अधिक लोग घायल हैं.

जर्मनी के जियोसाइंस केन्द्र ‘जीएफजेड’ के अनुसार विस्फोट से 3.5 की तीव्रता का भूकम्प भी आया. विस्फोट इतना भीषण था कि उसकी आवाज 200 किलोमीटर से अधिक दूरी तक सुनी गई. कोरोना वायरस (COVID-19) और आर्थिक संकट से जूझ रहे देश में विस्फोट के बाद एक नया संकट आ खड़ा हुआ है. लेबनान के गृह मंत्री ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि बंदरगाह पर बड़ी मात्रा में रखे अमोनियम नाइट्रेट में विस्फोट से यह हादसा हुआ.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0