मुकेश अंबानी की संपत्ति में भारी गिरावट, टॉप अमीरों की लिस्ट में 3 पायदान नीचे फिसले

मुकेश अंबानी की संपत्ति में गिरावटरिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों के टूटने से इसके चेयरमैन मुकेश अंबानी को भारी नुकसान हु

Bihar Flood: 16 जिलों की 74 लाख से ज्यादा आबादी प्रभावित, अबतक 24 लोगों की मौत
आत्मनिर्भर बिहार- सीरीज-1 बढ़ेगा बिहार- मिलेगा रोजगार- होगा आत्मनिर्भर बिहार – डाॅ॰ प्रेम कुमार
हैदराबाद: भारी बारि‍श से मलबे में दफन हो गईं कार-बाइक्स, ऐसा दिखा तबाही का मंजर

रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों के टूटने से इसके चेयरमैन मुकेश अंबानी को भारी नुकसान हुआ है. मुकेश अंबानी की संपदा में करीब 6.8 अरब डॉलर (करीब 50 हजार करोड़ रुपये) की गिरावट आई है और वह दुनिया के टॉप अमीरों की लिस्ट में छठे स्थान से फिसलकर नौवें स्थान पर पहुंच गये हैं.

गौरतलब है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) का सितंबर तिमाही में मुनाफा पिछले साल के मुकाबले 15 फीसदी कम रहा, जिसकी वजह से कंपनी के शेयरों में भारी गिरावट आई है. सोमवार को कंपनी का शेयर 8.62 फीसदी लुढ़ककर 1877 रुपये पर आ गया. इस गिरावट से रिलायंस का मार्केट कैप 1.2 लाख करोड़ रुपये कम हो गया.

उम्मीद से कम मुनाफा 

रिलांयस के शेयरों में गिरावट से कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी की नेटवर्थ एक झटके में 6.8 अरब डॉलर घट गई. इसके साथ ही वह दुनिया के धनकुबेरों की सूची में छठे से नौवें स्थान पर फिसल गए. फोर्ब्स रियल टाइम बिलिनेयर इंडेक्स के मुताबिक मुकेश अंबानी की नेटवर्थ 71.5 अरब डॉलर रह गई.

आज भी टूटे शेयर 

शुक्रवार को रिलायंस का मार्केट कैप 13.89 लाख करोड़ रुपये था, लेकिन सोमवार को यह सिर्फ 12.69 लाख करोड़ रुपये पर आ गया. मंगलवार को रिलायंस के शेयरों में और गिरावट आई है और इसका मार्केट कैप 12.66 लाख करोड़ रुपये के आसपास है. मंगलवार को रिलायंस का शेयर भाव 1873 रुपये के आसपास चल रहा है.

गौरतलब है कि इसके पहले सितंबर में आई हारून की रिच लिस्ट के अनुसार मुकेश अंबानी ने लॉकडाउन के बाद से हर घंटे 90 करोड़ रुपये कमाये हैं. पेट्रोलियम से लेकर रिटेल तक के कारोबार में लगी रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी एशिया के सबसे धनी व्यक्ति हैं और दुनिया के टॉप 10 अमीरों की सूची में भी उनका नाम है. उनके नेतृत्व में हाल के महीनों में रिलायंस इंडस्ट्रीज को करीब 1.8 लाख करोड़ रुपये का निवेश मिला है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0