वो पांच चेहरे जिनकी बिहार में रही सबसे ज्यादा चर्चा, लेकिन हार गए चुनाव

पुष्पम प्रिया चौधरी, पप्पू यादव, लव सिन्हा, लवली आनंद और सुभाषिनी बुंदेलाआखिरकार बिहार ने अपना फैसला सुना दिया है. एक बार फिर एनडी

Bihar Assembly Elections Seat wise Result LIVE: जानें किस सीट पर कौन चल रहा है आगे
Bihar Election First Phase Polling LIVE: 71 सीटों पर मतदान, कमल छाप मास्क पहन वोट डालने पहुंचे मंत्री प्रेम कुमार
कोरोना के बीच रैलियों में भीड़ पर बोले तेजस्वी- हाथ में डंडा तो नहीं ले सकते…
पुष्पम प्रिया चौधरी, पप्पू यादव, लव सिन्हा, लवली आनंद और सुभाषिनी बुंदेलापुष्पम प्रिया चौधरी, पप्पू यादव, लव सिन्हा, लवली आनंद और सुभाषिनी बुंदेला

आखिरकार बिहार ने अपना फैसला सुना दिया है. एक बार फिर एनडीए की सरकार बननी तय है. मंगलवार देर रात तक चले 243 सीटों के लिए हुई मतगणना में एनडीए को 125 सीटें मिल चुकी हैं. ये बहुमत के जादुई आंकड़े से 3 ज्यादा है. इस चुनाव में कई ऐसे चेहरे हार गए, जो सबसे ज्यादा चर्चा में थे. आइए आपको इन चेहरों के बारे में बताते हैं-

पुष्पम प्रिया चौधरी
खुद को सीएम कैंडिडेट घोषित सुर्खियों में आईं प्लूरल्स पार्टी की पुष्पम प्रिया चौधरी को दो सीटों पर हार का सामना करना पड़ा. पुष्पम दो सीट बांकीपुर और बिस्फी से चुनाव लड़ी थीं. बिस्फी में पुष्पम प्रिया को नोटा से भी कम यानी महज 1509 वोट मिले. वहीं, बांकीपुर सीट पर पुष्पम को 5189 वोट मिले. दोनों सीट पर वो जमानत तक नहीं बचा पाईं.

लव सिन्हा
कांग्रेस नेता और बॉलीवुड एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा के बेटे लव सिन्हा को बांकीपुर सीट पर चुनाव लड़े और 39 हजार 36 वोटों से हार गए. बांकीपुर सीट से बीजेपी के नितिन नवीन चुनाव जीत गए. इस चुनाव में नितिन नवीन को 83068 वोट मिले, जबकि कांग्रेस उम्मीदवार लव सिन्हा को 44032 वोट मिले. बांकीपुर, बिहार की हाईप्रोफाइल सीटों में से एक थी.

पप्पू यादव
जन अधिकार पार्टी (JAP) के अध्यक्ष और प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन (PDA) की ओर से मुख्यमंत्री का चेहरा राजेश रंजन यादव उर्फ पप्पू यादव को भी हार का सामना करना पड़ा. मधेपुरा सीट से चुनाव लड़े पप्पू यादव को 26,462 वोट मिले. वो तीसरे नंबर पर रहे, जबकि इस सीट पर आरजेडी के चंद्रशेखर ने जीत दर्ज किया.

लवली आनंद
आरजेडी की स्टार प्रचारक और बाहुबली आनंद मोहन सिंह की पत्नी लवली आनंद भी चुनाव हार गई हैं. सहरसा सीट से बीजेपी के आलोक रंजन को 1,03,538 वोट मिला, वहीं लवली आनंद के पक्ष में 83,859 वोट पड़े. लवली आनंद 19,679 वोटों से चुनाव हार गईं. हालांकि, लवली आनंद के बेटे चेतन आनंद शिवहर सीट से जीतने में कामयाब हुए.

सुभाषिनी बुंदेला
शरद यादव की बेटी सुभाषिनी बुंदेला भी चुनाव हार गई हैं. ऐन चुनाव से पहले सुभाषिनी ने कांग्रेस ज्वॉइन किया था. इसके बाद कांग्रेस ने उन्हें बिहारीगंज सीट से टिकट दिया था. हालांकि, वह जेडीयू प्रत्याशी निरंजन कुमार मेहता से हार गईं. निरंजन कुमार मेहता को कुल 81,531 वोट पड़ा, वहीं सुभाषिनी बुंदेला को 62,820 लोगों ने वोट किया.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0