LIVE: प्रशासन ने जब्त की गाड़ियां, लखनऊ से कन्नौज पैदल ही निकले अखिलेश

कृषि कानून के खिलाफ सपा का प्रदर्शनकृषि कानून के खिलाफ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दंगल जारी है. समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिल

संशोधन और कानून वापसी के बीच अटकी बात, किसान नेता बोले- सरकार के न्योते का इंतजार
किसान प्रोटेस्ट: दिल्ली के कौन से एंट्री प्वाइंट बंद हैं, कहां से लोग कर सकते हैं यात्रा, पढ़ें ट्रैफिक अलर्ट
राहुल गांधी का वार- बिना MSP मुसीबत में बिहार का किसान, अब PM ने पूरे देश को इसी कुएं में धकेला
कृषि कानून के खिलाफ सपा का प्रदर्शनकृषि कानून के खिलाफ सपा का प्रदर्शन

कृषि कानून के खिलाफ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दंगल जारी है. समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव आज किसान यात्रा की शुरुआत कर रहे हैं लेकिन लखनऊ में उन्हें घर के पास ही रोका जा रहा है. अखिलेश यादव ने कहा कि उनकी गाड़ियों को जब्त कर लिया गया है.

तमाम विरोध के बावजूद अखिलेश यादव कन्नौज के लिए पैदल ही रवाना हो रहे हैं और अब बीच सड़क पर धरने पर बैठ गए हैं.

अखिलेश यादव ने कहा कि मैं कन्नौज जा रहा हूं, गाड़ी रोक दी गई है लेकिन जहां तक हो सकेगा मैं पैदल ही चल दूंगा. अखिलेश ने कहा कि सरकार ने किसानों की दोगुनी आय करने का वादा किया था, लेकिन आज किसानों को बर्बाद करने वाला कानून लाया गया है.

नजरबंदी पर सरकार पर निशाना
अखिलेश यादव ने इसी मसले पर तंज कसते हुए शायरी ट्वीट की और सरकार पर निशाना साधा. अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखा, ‘जहां तक जाती नज़र वहां तक लोग तेरे ख़िलाफ़ हैं, ऐ ज़ुल्मी हाकिम तू किस-किस को नज़रबंद करेगा!’

पुलिस ने घर के बाहर की थी बैरिकेडिंग
आपको बता दें कि अखिलेश यादव को सोमवार को कन्नौज जाना था, जहां उन्हें समाजवादी पार्टी द्वारा बुलाई गई किसान यात्रा की शुरुआत करनी थी. लेकिन सोमवार सुबह ही लखनऊ में विक्रमादित्य मार्ग पर सपा दफ्तर से लेकर अखिलेश यादव के घर तक पुलिस ने तैनाती कर दी और बैरिकेडिंग कर दी.

इस दौरान यहां किसी के भी आने-जाने पर रोक लगा दी गई. प्रदर्शन कर रहे समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया.

कृषि कानून के खिलाफ समाजवादी पार्टी आक्रामक रुख में है और लगातार विरोध कर रही है. सपा ने भारत बंद का समर्थन भी किया है और उससे पहले प्रदेश के हर जिले में किसान यात्रा निकालने की बात कही. अखिलेश की अगुवाई में निकाली जानी वाली इस किसान यात्रा को समाजवादी पार्टी की 2022 विधानसभा चुनाव की तैयारी के तौर पर भी देखा जा रहा है.

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में सोमवार को समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया. इस दौरान लखनऊ समेत कई शहरों में सपा कार्यकर्ताओं ने बैरिकेड को तोड़ा, जिसके बाद कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0