RJD में शामिल हुए कद्दावर नेता श्याम रजक, बदले सुर में बोले- JDU ने पार्टी संविधान तोड़ा

श्याम रजक बिहार की राजनीति का बड़ा दलित चेहरा हैं. बिहार में करीब 16 फीसदी वोटर दलित समाज से हैं. एक जमाने में आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के कर

Bihar Election: आज NDA के किनारे लग जाएगी मांझी की नैया, कहा- तेजस्‍वी रहमोकरम वाले अयोग्‍य नेता
बिहार: प्रचार के अंतिम दिन नीतीश कुमार ने किया ऐलान, ये मेरा आखिरी चुनाव है
बीजेपी की विजय का ‘सेतु’! चुनाव काल में PM मोदी की बिहार को सौगातों की बौछार

श्याम रजक बिहार की राजनीति का बड़ा दलित चेहरा हैं. बिहार में करीब 16 फीसदी वोटर दलित समाज से हैं.

एक जमाने में आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के करीबी माने जाते थे.

पटना: बिहार के राजनीतिक गलियारे से बड़ी खबर आई है. एक दिन पहले ही नीतीश सरकार से बर्खास्त किए गए बिहार के उद्योग मंत्री श्याम रजक आज राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) में शामिल हो गए हैं. तेजस्वी यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में श्याम रजक को आरजेडी में शामिल करने का ऐलान किया. रजक ने बदले सुर में कहा, ‘जेडीयू ने पार्टी संविधान तोड़ा है. पार्टी में 99 फीसदी नेता नीतीश कुमार से नाराज हैं, लेकिन वह कोई फैसला नहीं ले पा रहे हैं. मुझे दूसरों का नहीं पता, लेकिन मैं आरजेडी में शामिल हो रहा हूं.’

श्याम रजक को JDU ने पार्टी से क्यों निकाला
रिपोर्ट्स के मुताबिक, फुलवारी विधानसभा क्षेत्र से विधायक और नीतीश कुमार के मंत्री मंडल में उद्योग मंत्री रहे श्याम रजक को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अनुशंसा पर राज्य मंत्री परिषद से हटाया गया है. श्याम रजक को इसके पहले जेडयू ने प्राथमिक सदस्यता से भी निलंबित करते हुए पार्टी से निकाल दिया था. सीएम नीतीश कुमार की अनुशंसा को राजभवन गया था जिसे राज्यपाल ने स्वीकार करते हुए श्याम रजक से मंत्रिमंडल की सदस्यता वापस ले ली.

श्याम रजक कौन हैं
श्याम रजक बिहार की राजनीति का बड़ा दलित चेहरा हैं. बिहार में करीब 16 फीसदी वोटर दलित समाज से हैं. एक जमाने में आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के करीबी माने जाते थे. उनकी और राम कृपाल की जोड़ी राम-श्याम की जोड़ी कही जाती थी. पार्टी कोई भी हो, फुलवारी से लंबे समय से श्‍याम रजक ही जीतते रहे हैं. करीब 25 साल और लगातार 1995 से फुलवारी के विधायक है. 2009 उपचुनाव को छोड़कर लगातार 6 बार विधानसभा चुनाव जीते.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0