Sinus Infection: सर्दियों में बढ़ जाती है साइनस की समस्या, ये 7 घरेलू तरीके देंगे आराम

साइनस (Sinus Infection) नाक से जुड़ी एक ऐसी समस्या है जो एलर्जी, बैक्टीरियल इंफेक्शन या कोल्ड की वजह से हो जाती है. सर्दियों के मौसम में साइनस क

Creating a Work Life Balance for Online Instructors
World Food Day 2020: क्यों मनाते हैं वर्ल्ड फूड डे? जानें क्या है इस बार की थीम
How to do surya namaskar – Learn 12 powerful yoga poses
साइनस इंफेक्शन

साइनस (Sinus Infection) नाक से जुड़ी एक ऐसी समस्या है जो एलर्जी, बैक्टीरियल इंफेक्शन या कोल्ड की वजह से हो जाती है. सर्दियों के मौसम में साइनस की दिक्कत और बढ़ जाती है. साइनस की वजह से शरीर में बलगम जमने लगता है जिससे पूरे समय सिर में दर्द रहता है और सांस लेने में भी तकलीफ महसूस होती है. साइनस की समस्या 4 हफ्तों या उससे ज्यादा समय तक भी बनी रह सकती है. अच्छी बात ये है कि कुछ घरेलू तरीकों से इस समस्या से आराम मिल सकता है (Sinus Treatment). आइए जानते हैं इनके बारे में.

हाइड्रेटेड रहें

हाइड्रेटेड रहें- तरल पदार्थ की कमी की वजह से साइनस की समस्या और बढ़ जाती है. अगर आपको साइनस की समस्या है तो खुद को हमेशा हाइड्रेटेड रखें. इसके लिए आप खूब सारा पानी, बिना चीनी की चाय या जूस पिएं. ये तरल पदार्थ बलगम को शरीर से बाहर निकालने में मदद करते हैं. साइनस की समस्या वालों को एल्कोहल, कैफीन और स्मोकिंग से दूर रहना चाहिए.

तीखे मसाले

तीखे मसाले- कुटी मिर्च जैसे तीखे मसालों में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो बलगम बाहर निकालने में मदद करते हैं. इसके अलावा एप्पल साइडर विनेगर और नींबू के रस में हॉर्सरैडिश मिलाकर लेने से भी साइनस की समस्या में राहत मिलती है.

भाप लेना

भाप लेना- साइनस को कम करने का सबसे असरदार तरीका भाप लेना है. एक बर्तन में गर्म पानी कर इसमें पिपरमिंट तेल की 3 बूंदें, रोजमेरी ऑयल की तीन बूंदें और नीलगिरी के तेल की 2 बूंदे डालें. अब तौलिए से ढंक कर इस पानी से भाप लें. इससे आपकी बंद नाक खुल जाएगी और आपको हल्का महसूस होगा.

हल्दी और अदरक की चाय

हल्दी और अदरक की चाय- हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं. हल्दी और अदरक की चाय बलगम को ढीला करने में मदद करती है और इससे बंद नाक भी खुल जाती है. साइनस की समस्या में हल्दी और अदरक की चाय को सबसे कारगर आयुर्वेदिक उपचार माना गया है. इसके अलावा, 1 चम्मच शहद के साथ ताजे अदरक के रस को मिलाकर दिन में 2 से 3 बार लिया जा सकता है.

एप्पल साइडर विनेग

एप्पल साइडर विनेगर- एप्पल साइडर विनेगर यानी सेब का सिरका भी साइनस में एक प्राकृतिक उपचार के तौर पर काम करता है. एक कप गर्म पानी में 3 चम्मच सेब का सिरका डालकर पीने से साइनस का दबाव कम होता है. स्वाद के लिए इसमें नींबू और शहद भी मिला सकते हैं. दिन भर में तीन समय सिर्फ एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर लेने से भी आपको फायदा होगा.

सूप

सूप- सर्दियों के मौसम में सूप पीना वैसे भी बहुत फायदेमंद होता है. कई स्टडीज में इस बात का जिक्र किया गया है कि गर्म सूप शरीर में जमे बलगम को निकालने में मददगार होता है. आप सब्जियों से लेकर चिकन सूप तक भी बना सकते हैं.

तले और मसालेदार भोजन से दूर रहें

तले और मसालेदार भोजन से दूर रहें- खाने-पीने की कुछ खास चीजें साइनस की समस्या को बढ़ाने का काम करती हैं जैसे कि तलाभुना खाना, चावल और मसालेदार चीजें. साइनस की समस्या वालों को विटामिन A वाली चीजें ज्यादा खानी चाहिए क्योंकि ये साइनस इंफेक्शन को कम करने का काम करता है. इसके अलावा आपको आइसक्रीम, चीज़ और दही जैसी चीजों से भी परहेद करना चाहिए.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0